Hai Tu Bhi Shehar Mein Lyrics – Varun Kasturiya, Diya Bhat | Salman Ali

Hai Tu Bhi Shehar Mein Lyrics in English

Hain tu bhi sahar mein
Hu main bhi Sahar mein

Hain tu bhi sahar mein
Hu main bhi Sahar mein
Haan milne ka koi bahana bana

Hain tu bhi sahar mein
Hu main bhi Sahar mein
Haan milne ka koi bahana bana

Dil mein mere phir wahin khoishey hain
Dil mein mere phir wahin khoishey hain
Aa phir se mujhe tu deewana bana

Hain tu bhi sahar mein
Hu main bhi Sahar mein
Haan milne ka koi bahana bana

Tu phir se meri inn bahon mein aakar
Tehar ja Zara sa nigahon mein Aakar
Is dil ko aab bhi teri arujuu hain
Mujhe pyaar karle gale se laga kar

Tu samane main tere samane hu
Tu samane main tere samane hu
Tu phir se nazar ka nishana bana

Hain tu bhi sahar mein
Hu main bhi Sahar mein
Haan milne ka koi bahana bana

Zulfon ke phir se tu badal udade
Hoon main hosh mein
Mujhko pagal bana de

Aankhon se Teri jo pahle piye the
Oo zaam mujhko tu phir se pila de
Baarish mein bhi dhoop jaisi jo ghan hain
Baarish mein bhi dhoop jaisi jo ghan hain
Aa phir se ye sousam suhana bana

Hain tu bhi sahar mein
Hu main bhi Sahar mein
Hain tu bhi sahar mein
Hu main bhi Sahar mein
Haan milne ka koi bahana bana

Hain tu bhi sahar mein
Hu main bhi Sahar mein

Hai Tu Bhi Shehar Mein Lyrics in Hindi

हैं तू भी शहर में
हूँ में भी शहर में

हैं तू भी शहर में
हूँ में भी शहर
हाँ मिलने का कोई बहाना बना

हैं तू भी शहर में
हूँ में भी शहर
हाँ मिलने का कोई बहाना बना

दिल में मेरे फिर वहीँ खोई से है
दिल में मेरे फिर वहीँ खोई से है
आ फिर से मुझे तू दीवाना बना

हैं तू भी शहर में
हूँ में भी शहर
हाँ मिलने का कोई बहाना बना

तू फिर से मेरी इन बाँहों में आकर
ठहर जा ज़रा सा निगाहों में आकर
इस दिल को अब भी तेरी आरजू हैं
मुझे प्यार करले गले से लगा कर

तू सामने में तेरे सामने हूँ
तू सामने में तेरे सामने हूँ
तू फिर से नज़र का निशाना बना

हैं तू भी शहर में
हूँ में भी शहर
हाँ मिलने का कोई बहाना बना

ज़ुल्फ़ों के फिर से तू बादल उड़ादे
हूँ में होश में
मुझको पागल बना दे

आँखों से तेरी जो पहले पिए थे
ओ ज़ाम मुझको तू फिर से पीला दे
बारिश में भी धुप जैसी जो घन हे
बारिश में भी धुप जैसी जो घन हे
आ फिर से ये मौसम सुहाना बना

हैं तू भी शहर में
हूँ में भी शहर
हैं तू भी शहर में
हूँ में भी शहर
हाँ मिलने का कोई बहाना बना

हैं तू भी शहर में
हूँ में भी शहर

Hai Tu Bhi Shehar Mein Lyrics Youtube

Blur Lyrics in Hindi and English – Sachet Tandon, Parampara Tandon

1 thought on “Hai Tu Bhi Shehar Mein Lyrics – Varun Kasturiya, Diya Bhat | Salman Ali”

Leave a Comment